N C C

महाविद्यालय में छात्रों के लिए सीनियर डिवीजन एन०सी०सी० प्रशिक्षण की व्यवस्था है। प्रशिक्षण की अवधि तीन वर्ष है जिसमें `बी' एवं `सी' प्रमाण-पत्र की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है। महाविद्यालय के अतिरिक्त किसी अन्य महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय में एन०सी०सी० (थलसेना) का प्रशिक्षण नहीं दिया जाता। यह महाविद्यालय को गौरव प्रदान करता है। `सी' प्रमाण-पत्र धारकों को अनेक सरकारी एवं गैर सरकारी नौकरियों में वरीयता दी जाती है। इसके अतिरिक्त विभिन्न पाठ्यक्रमों एवं बी०एड० प्रवेश में वरीयता प्रदान की जाती है। एन०सी०सी० में चयन अगस्त के प्रथम/द्वितीय सप्ताह में शारीरिक दक्षता के आधार पर बटालियन में होता है। महाविद्यालय के छात्रों के सीनियर डिवीजन की इकाई १७ यू०पी० बटा० एन०सी०सी० इलाहाबाद से सम्बद्ध है। इण्टरमीडिएट परीक्षा में जो छात्र-छात्रायें ६०³ से अधिक अंक से उत्तीर्ण हुए हैं और एन०सी०सी० लिया है उन्हें एन०सी०सी० की ओर से छात्रवृत्ति की व्यवस्था है। यह चयन उपनिदेशक एन०सी०सी० द्वारा होता है। एन०सी०सी० में भाग लेने के इच्छुक छात्र-छात्रायें सीनियर डिवीजन हेतु डॉ० धीरज कुमार चौधरी, असिस्टेन्ट प्रोपेâसर, मध्यकालीन इतिहास विभाग से सम्पर्वâ करें। एन०सी०सी० में शिविर और प्रशिक्षण की सुविधा सर्वथा नि:शुल्क है।